सत्ता हासिल करने के बाद कांग्रेस-बीजेपी ने बदल दिया पूर्ण राज्य के अपने इलेक्शन-मेनिफेस्टो को: बलबीर सिंह जाखड़


मो. कामरान
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के पश्चिमी दिल्ली से उम्मीदवार बलबीर सिंह जाखड़ ने आज कहा कि आगामी 12 मई को होने वाले चुनाव लोकसभा चुनाव में वोट डालने से पहले तीनों राजनीतिक पार्टियों के चुनावी घोषणापत्र का विवेचन जरूर करना चाहिए। पब्लिक को यह जानने का पूरा हक है कि चुनाव से पहले किए गए वायदों पर पार्टी सत्ता में आने के बाद कितना काम करती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस व भाजपा पूर्व के चुनावों में दिल्ली की जनता से पूर्ण राज्य बनाने का दावा करते आए और सत्ता में काबिज होने के बाद इस मुद्दे को दरकिनार कर दिया और राज्य की मांग दिल्ली की जनता का हक है। इस आवाज को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अलावा कोई नहीं उठा रहा पिछले विधानसभा चुनाव में दिल्ली की जनता से किए गए वादों में से 75 फीसदी से अधिक वायदों को आप की दिल्ली सरकार ने पूरा किया है बात चाहे मुफ्तपानी की हो या बिजली के आधे दाम की या फिर मोहल्ला क्लीनिक बनाने की हो शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में शानदार उपलब्धियों से दिल्ली की अधिकांश जनता लाभान्वित हो रही है।
जाखड ने आज यह बात जनकपुरी विधानसभा के ए ब्लॉक स्थित डीडीए पार्क में एक सभा को संबोधित करते हुए कही इस अवसर पर भारी संख्या में आसपास के ब्लॉकों के स्थानीय मतदाता मौजूद थे। जनकपुरी केविधायक राजेश ऋषि ने भी जाखड़ को जिताने की अपील की जनकपुरी के पूर्व निगम पार्षद संजय पुरी आप जनकपुरी विधानसभा के अध्यक्ष अजय गिरी निगम वार्ड संख्या 15 के अध्यक्ष रंजन मलिकजिला महिला विंग तिलक नगर की अध्यक्षता रीना मेहरा के अलावा कई इलाकों की आरडब्ल्यूए पदाधिकारी ने भी जाकर को अपना समर्थन देने का एलान किया। जाखड़ ने आगे कहा कि कल आए बारहवीं कक्षा के नतीजों में उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं के 90 फीसदी से अधिक अंक आने पर भी दिल्ली विश्वविद्यालय के किसी अच्छे कॉलेज में दाखिले की गारंटी नहीं है क्योंकि यहां अन्य राज्योंकी तरह 85 फीसदी सीटें दिल्ली के छात्रों के लिए आरक्षित नहीं है अगर दिल्ली राज्य बन जाए तो 65 फीसदी अंक पाने पर भी सभी छात्रों को अच्छे कॉलेज में दाखिला मिलना संभव है। इस बारे में पहले ही दिल्ली सरकारविधानसभा में एक बिल पास करके गृह मंत्रालय को भेज चुकी है किंतु केंद्र की मोदी सरकार ने इस बिल को लागू नहीं होने दिया कौन राज्य बनते ही यह बिल स्वता ही लागू हो जाएगा इसलिए आप सब अपने एक वोट कीकीमत को जानिए और उसका सदुपयोग करते हुए दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की मुहिम में अपना योगदान दीजिए।


Categories: देश,राजनीति

Leave A Reply

Your email address will not be published.