राष्ट्रीय अंतः विषय संगोष्ठी एवं पीपल स्पेशलिस्ट सम्मान समारोह का हुआ आयोजन


कार्यालय संवाददाता
नई दिल्ली। द्वितीय अंतः विषय संगोष्ठी एवं पीपल स्पेशलिस्ट सम्मान समारोह का आयोजन यूनिवरसिटी ऑफ टेक्नोलॉजी जयपुर के संयुक्त तत्वाधान में नई दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में किया गया। आयोजक सचिव एवं पीपल स्पेशलिस्ट के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ अंकित गांधी नें बताया कि इस सम्मेलन का उद्देश्य अंतः विषय ( प्दजमतकपेबपचसपदंतल) अध्ययन को विज्ञान, तकनीकि एवं प्रबंधन के क्षेत्र में बढावा देना है। सम्मेलन के विषय पर बोलते हुए ओरियन्टल विश्वविद्यालय, इन्दौर के कुलपति डॉ. देवेन्द्र पाठक नें बताया कि दो या दो से अधिक विषयों की सूचनाओं, डेटा, तकनीक, संकल्पना तथा बारीकियों को एकीकृत कर उन समस्याओं का समाधान निकाला जा सकता है जो कि एक विषय के क्षैत्र में नहीं आती है। इस सम्मेलन में 60 से ज्यादा प्रतिभागियों नें हिस्सा लिया जो देश के विभिन्न कॉलेज एवं विश्वविद्यालय में अध्यापन का कार्य कर रहे है। प्रतिभागियों द्वारा प्रस्तुत किये गये शोधपत्रों का प्रकाशन अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका में किया जा रहा है।
इस अवसर पर पीपल स्पेशलिस्ट के द्वितीय सम्मान समारोह का भी आयोजन किया गया। इस समारोह के मुख्य अतिथि भारतीय किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं संसद सदस्य माननीय वीरेन्द्र सिंह मस्त एवं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के पूर्व सचिव टी.आर. टेक थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पीपल स्पेशलिस्ट के मैनेजिंग डायरेक्टर एवं यूओटी के अनुसंधान डीन डॉ. अकिंत गांधी एवं एसौचेम के कॉ-चेयरमैन डॉ. एम. के. वाजपेयी थे। इस अवसर पर शिक्षा एवं अनुसंधान के क्षैत्र में अपने विशेष योगदान के लिए अनेक प्राध्यापकों को सम्मानित किया गया। पीपल स्पेशलिस्ट बेस्ट इस्टीटयूट का सम्मान नाथ द्वारा स्थित श्रीनाथ जी इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी एवं इंजीनियरिंग को दिया गया तथा यह सम्मान उसके डायरेक्टर जयदीप आमेटा ने ग्रहण किया। क्षेष्ठ पत्रिका प्रकाशन का पुरस्कार इंगनाईटड मांइस पब्लिेकशन प्राईवेट लिमिटेड को दिया गया। जिसे डॉ. आकाश तिवारी नें स्वीकार किया। सम्मानित किये गये प्राध्यापकों में एस.आई.टी.एम रेवाडी के डायरेक्टर प्रो. वाई.पी. सिंह, यू.पी.ई.स. देहरादून के प्रो. संजीव कुमार सिंह, सनराईज यूनिवरसिटी अलवर के डॉ. अनूप प्रधान, ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय जयपुर के डॉ. कृष्ण कुमार एवं डॉ. मंजू चौधरी, कैपिटल विश्वविद्यालय कोडरमा के पवन कुमार सैनी एवं एस.एस. कॉलेज ऑफ इन्जीनियरिंग उदयपुर के दीपक टांक थे। कार्यक्रम को सभी विशिष्ट अतिथियों नें भी सम्बोधित किया। डॉ. गांधी नें घन्यवाद ज्ञापित किया एवं मंच का संचालन डॉ. वाणी मजूमदार, आकांक्षा तोमर एवं रविन्द्र रतन सिंह नें किया।


Categories: देश,लेख,शिक्षा

Leave A Reply

Your email address will not be published.