मोदी और शाह की जोड़ी ने देश के नवजवानों के अरमानों को कुचला है: रैहान खालिद


लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी को रंगा बिल्ला बताते हुए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक डिपार्टमेंट यूपी ईस्ट के चेयरमैन रेहान खालिद ने आज कहा है कि रंगा बिल्ला की जोड़ी ने देश को तबाह करने में कोई कमी नहीं छोड़ी है. उन्होंने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में तौहीद उर्फ नजमी की ओर से आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज देश संकट के दौर से गुजर रहा है. उन्होंने कहा कि देश को बचाने के लिए देश के युवाओं को आगे आने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने देश के युवाओं को सबसे ज्यादा तबाह करने का काम किया है. आज हिंदू और मुसलमान का मसला नहीं है बल्कि राहुल गाँधी की जंग गरीबी मजदूरी बेरोजगारी भुखमरी के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी की कोशिश है कि हिंदू और मुसलमान के मसले में देश को उलझा कर 2019 का इलेक्शन जीत लिया जाए, लेकिन देश का गरीब शोषित पीड़ित वंचित और मजदूर मोदी के कुशासन को कुचलने का मन बना चुका है.
रेहान खालिद ने कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने पहले ही हार मान लिया है और यह चीज उनके चेहरे से साफ नजर आ रही है. उन्होंने कहा कि मोदी और शाह की बॉडी लैंग्वेज यह दर्शाता है कि उन्होंने चुनाव से पहले ही हार स्वीकार कर ली है.
उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय ओल्ड बॉयज लखनऊ के अध्यक्ष    तारिक़ सिद्दीकी ने कहा कि आज जरूरत इस बात की है कि कांग्रेस पार्टी की न्याय स्कीम को आगे बढ़ाया जाए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने अपने मेनिफेस्टो में जो वादे किए हैं वह वादे हर गरीब और मज़दूर की आवाज़ हैं. बीजेपी उन वादों से बौखलाई हुयी है. देश को हिंदू मुसलमान के जाल में उलझाना चाहती है. तारिक़ सिद्दीकी ने कहा कि आज कांग्रेस के 72000 न्याय की बात होनी चाहिए. कांग्रेस पार्टी के न्याय के फार्मूले के साथ-साथ मनरेगा के तहत 100 दिन की जगह 150 दिन रोजगार देने की बात होनी चाहिए. इन सब के साथ गरीबों को मुफ्त शिक्षा और मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं देने की बात होनी चाहिए. कांग्रेस का मेनिफेस्टो यह बताता है कि कांग्रेस ही देश से गरीबी खत्म कर सकती है.
उन्हों ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने 70 सालों में 4 लाख से अधिक गांव में बिजली पहुंचाई और एक साल में 8 हज़ार गावों में बिजली दी, इस के विपरीत बीजेपी ने 1 साल में 3000 गांव के हिसाब से बिजली पहुंचाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस छलावा नहीं बल्कि मुद्दों को धरातल पर उतारने की क्षमता रखती है और देश को चलाने की क्षमता सिर्फ और सिर्फ भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अंदर है.
तारिक़ सिद्दीकी ने कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी का वर्कर भी इस बात को स्वीकार कर रहा है 70 सालों में उसने जो कमाया है वह 5 सालों में बच जाए तो उसके भविष्य के लिए यह बेहतर होगा. उन्हों ने इस बात पर भी बल दिया कि देश के युवाओं को देश को संभालने के लिए आगे आना चाहिए.उन्होंने कहा कि युवा चाहे जिस समाज के हों वह देश की संपत्ति हैं और उनके अंदर पॉजिटिव सोच को परवान चढ़ाने की जरूरत है.
दूसरी ओर उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक कांग्रेस कमेटी के स्टेट कोऑर्डिनेटर डॉक्टर शहजाद और डॉक्टर मेराज ने अपने साझा बयान में कहा कि हमें सिर्फ और सिर्फ इस बात को समझना होगा कि देश को कौन चला सकता है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कहने से ज्यादा करने में विश्वास रखते हैं. यही वजह है कि राहुल गांधी ने पिछले 5 सालों में जितनी प्रेस कॉन्फ्रेंस की है वह अपने आप में एक मिसाल है जबकि नरेंद्र मोदी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की भी हिम्मत नहीं जुटा सके जो यह दर्शाता है कि मोदी मीडिया के कैमरे का सामना करने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि उन्हों ने देश को लूटने के सिवा कुछ किया ही नहीं है.


Categories: देश,राजनीति,लेख

Leave A Reply

Your email address will not be published.