पुलिस ने शातिर ठग को किया गिरफ्तार


अपराध संवाददाता
नई दिल्ली। पश्चिमी जिले के पंजाबी बाग थाना पुलिस ने एक ऐसे ठग को पकड़ा है जो इंटरनेट पर सामान बेचने से जुड़े एक साइट पर मोटरसाइकिल पसंद करता और कहता कि खरीदने से पहले वह एक टेस्ट ड्राइव लेना चाहता है। इसके बाद जैसे ही उसके हाथ मोटरसाइकिल लगती, वह उसे लेकर फरार हो जाता। गिरफ्तातर आरोपित की पहचान अर्जुन के रूप में हुई है। पुलिस ने इसे संगम विहार से गिरफ्तार किया है।
पश्चिमी जिले के डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि पंजाबी बाग थाने में पुलिस को मोती नगर निवासी एक व्यक्ति ने अपनी शिकायत में बताया कि उन्होंने अपनी मोटरसाइकिल बेचने के लिए एक साइट पर ब्यौरा डाला था। उसके बाद एक युवक ने उनसे संपर्क किया, जिसने अपना नाम अर्जुन बताया और वह कागजात लेकर पंजाबी बाग मेट्रो स्टेशन पर मोटरसाइकिल लेकर मिलने के लिए बुलाया। वहां अर्जुन अपने एक साथी को लेकर पहुंचा। पहले उसने मोटरसाइकिल के कागजात लिए और अपने साथ लाए दोस्त को वहां पर खड़ा करके मोटरसाइकिल लेकर टेस्ट ड्राइव के लिए बोलकर निकल गया। शिकायतकर्ता संतुष्ट था क्योंकि अर्जुन ने अपना एक साथी वहां छोड़ दिया था लेकिन काफी देर बाद भी जब अर्जुन वापस नहीं लौटा, तो फिर साहिल ने पुलिस को सूचना दी। मामला दर्ज कर पंजाबी बाग पुलिस ने जांच शुरू कर दी। अर्जुन के साथ जो लड़का आया था जब उससे पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसकी अर्जुन से मुलाकात पान की दुकान पर हुई थी। अक्सर वहीं पर मिलता था। गत 23 मार्च को यह कहकर साथ लेकर आया कि पंजाबी बाग घूमकर आते हैं। इसके बाद पुलिस ने उस नंबर पर ध्यान लगाया जिस नंबर ने अर्जुन ने कॉल किया था। उसकी जांच की तो पता चला की नंबर बंद है और उस नंबर को कभी कभी इस्तेमाल करता है। नंबर जिस पते पर लिया गया था, वहां अब वह नहीं रहता था। छानबीन में जुटी इस पुलिस टीम को पता चला कि वह संगम विहार में कभी कभी आता है। उसके बाद पुलिस टीम ने सैकड़ों लोगों से अर्जुन के हुलिए के बारे में पूछा। आखिरकार पुलिस ने अर्जुन को ढूंढ निकाला। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया की वह बेरोजगार था। उसने बताया कि वह अपना फर्जी डाटा डालकर ग्राहक बनकर ठगी करने लगा।


Categories: क्राइम न्यूज

Leave A Reply

Your email address will not be published.