डॉ. हर्ष वर्धन ने पीएम मोदी की रामलीला मैदान में होने वाली जनसभा के लिए मेट्रो में सफर कर समर्थन मांगा


नाज सिद्दीकी
नई दिल्ली। केन्द्रीय मंत्री एवं चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी डॉ. हर्ष वर्धन ने आज अपने समर्थकों के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 08 मई, 2019 को रामलीला मैदान में होने वाली विशाल जनसभा में दिल्ली के लोगों को शामिल होने के लिए मेट्रो में सफर कर आमंत्रित किया। आज डॉ. हर्ष वर्धन ने पीतमपुरा मेट्रो स्टेशन से कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन तक का सफर किया और यात्रियों से समर्थन मांगा।
कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन के गेट नं.-1 पर यात्रियों को 8 मई को चलो रामलीला मैदान शीर्षक से हैंडबिल बांटते हुए डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि यह चुनाव राष्ट्रवाद का चुनाव है क्योंकि इस चुनाव में कुछ ऐसे अराजक तत्व सक्रिय हैं जो अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिए देश द्रोही ताकतों के साथ मिलकर देश को नुकशान पहुंचाना चाहते हैं। यह चुनाव सिर्फ जीत हार का चुनाव नहीं है बल्कि टुकड़े-टुकड़े गैंग से देश को बचाने का चुनाव है।
डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि यह ऐतिहासिक रामलीला मैदान मेरे ही संसदीय क्षेत्र में आता है। इसलिये मेरा कर्तव्य है कि मेरे संसदीय क्षेत्र के अधिक से अधिक कार्यकर्ता एवं भाजपा समर्थक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से सीधे रूवरू हों। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दिल्ली के लोगों से रामलीला मैदान से सीधा संवाद करके आने वाली भाजपा सरकार की नीति और रणनीति के साथ पिछले पांच सालों में केन्द्र सरकार द्वारा किये गये जनहितकारी कार्यों का ब्यौरा भी देंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल की ऐसी अराजक सरकार चल रही है जिसका न तो चुनाव आयोग में विश्वास है और ही न्याय पालिका में कोई भरोसा है। केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों के लिए कोई भी काम नहीं किया इसीलिये चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों पर व्यक्तिगत हमले करके दिल्ली के लोगों को चुनाव के मूल मुद्दों से भटकाने की कोशिश कर रहे हैं।
मेट्रो सफर के दौरान डॉ. हर्ष वर्धन के साथ चांदनी चौक लोकसभा के मीडिया प्रभारी हरिहर रघुवंशी, युवा मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष सौरभ नैयर, रोहित सांभर, युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष हर्ष मित्तल, सुधीर मंडार, राजा खारी, रितु शर्मा, आशुतोष सहित युवा मोर्चा के कार्यकर्ता साथ थे।


Categories: देश,राजनीति

Leave A Reply

Your email address will not be published.