डीयू ने गेस्ट टीचर्स का मानदेय 50 प्रतिशत बढ़ाने के लिए कॉलेजों को भेजा सर्कुलर


कार्यालय संवाददाता
नई दिल्ल। दिल्ली विश्वविद्यालय(डीयू) ने कॉलेजों को गेस्ट टीचर्स का मानदेय बढ़ाने के संबंध में सर्कुलर भेजा है। इससे डीयू के विभिन्न कॉलेजों में अध्यापन कार्य कर रहे हजारों गेस्ट टीचरों को लाभ होगा। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(यूजीसी) ने गेस्ट टीचर्स का मानदेय जनवरी-2019 से 50 प्रतिशत बढ़ाया था। दिल्ली विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार तरुण कुमार दास ने डीन, विभागाध्यक्ष, निदेशक, संकाय, विभागों सेंटर्स और कॉलेजों के प्राचार्यो को गेस्ट टीचर्स का बढ़ा हुआ मानदेय के संदर्भ में सर्कुलर भेजा है। कॉलेजों को सर्कुलर को तुरंत प्रभाव से लागू करने को कहा गया है। इसके लागू होने के बाद कॉलेजों को यूजीसी गाइडलाइंस के अनुसार ही नियुक्ति करने को कहा है। उल्लेखनीय है कि यूजीसी के सचिव ने देशभर के केंद्रीय विश्वविद्यालयों, राज्य, मानद विश्वविद्यालयों के अलावा वित्त पोषित शैक्षणिक संस्थानों के कुलसचिव को 28 जनवरी को सर्कुलर भेजा था। इस सर्कुलर में गेस्ट शिक्षकों को दिए जाने वाले मानदेय को 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई थी। इन्हें पहले अधिकतम 25 हजार रुपए दिए जा सकते थे, जो बढ़कर 50 हजार रुपये किए गए हैं। यूजीसी सर्कुलर में सातवें वेतन आयोग की संस्तुतियों के अंतर्गत विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में कार्यरत गेस्ट फैकल्टी के मानदेय में बढ़ोतरी इस प्रकार है। गेस्ट फैकल्टी के मानदेय को प्रति लेक्चर 1000 से बढ़ाकर 1500 करते हुए प्रति माह अधिकतम 50,000 कर दिया गया है। गेस्ट टीचर्स को पहले 25,000 हजार रुपये मिलते थे और प्रति लेक्चर 1000 दिए जाते थे। यूजीसी के पत्र जारी होने के बाद उन्हें 1500 रुपये प्रति लेक्चर के हिसाब से मानदेय दिया जाएगा।


Categories: शिक्षा

Leave A Reply

Your email address will not be published.